Skip to main content

कैसे क्रैक करें जेईई मेन 2021 JEE Main ki taiyari kaise kare जेईई मेन की तैयारी कैसे करे JEE Main Syllabus & Exam Pattern 2021

JEE Main ki taiyari kaise kare 

कैसे क्रैक करें जेईई मेन 2021 
जेईई मेन की तैयारी कैसे करे 

कैसे क्रैक करें जेईई मेन 2020   JEE Main ki taiyari kaise kare  जेईई मेन की तैयारी कैसे करे  JEE Main Syllabus & Exam Pattern 2020



Hello friends, आज की इस पोस्ट में हम जानेंगे कि JEE Main ki taiyari kaise kare और इस एग्जाम की तैयारी के लिए कुछ बेहतरीन Tips के बारे में बात करेंगे। साथ ही साथ हम इस एग्जाम के सिलेबस और एग्जाम पैटर्न के बारे में भी जानेंगे। 


कैसे क्रैक करें जेईई मेन 2021 

अधिकांश बोर्ड परीक्षाओं में कठोर अध्ययन  करके अच्छे अंक लाये जा सकते हैं, लेकिन इसके विपरीत जेईई मेन में बहुत कठिन प्रश्न पूछे जाते हैं। जेईई मेन 2021 (JEE Main 2020) परीक्षा की प्रकृति और कठिनाई स्तर अन्य परीक्षाओं से बहुत अलग है।जेईई मेन सबसे कठिनतम परीक्षाओ में से एक है। इसमें वस्तुनिष्ठ प्रकार के प्रश्न पूछे जाते हैं। इस परीक्षा को क्रैक करने के लिए आपको कड़ी मेहनत के अलावा सही मार्गदर्शन की भी जरूरत होगी। यदि आप JEE Main 2021 को क्रैक करने संबंधी नीचे दिए गए हमारे सुझावों को अपनायेंगे, तो निश्चित ही आप इस कठिन परीक्षा को पास करने में सफल हो जाएंगे -

 


जेईई मेन की तैयारी कैसे करे -

1.)  टाइम टेबल बनाये - 

यदि आप जेईई मेन 2020 (JEE Main 2020) परीक्षा को क्रैक करना चाहते हैं, तो एक निश्चित टाइम टेबल जरूर बनाएं और इसके साथ ही आप यह सुनिश्चित करें कि आप इसका दृढ़ता से पालन करेंगे। परीक्षा के सिलेबस को ध्यान में रखते हुए आप अपना टाइम टेबल बनाएं ताकि समय पर सारा सिलेबस कवर कर सके। परीक्षा से जुड़े हर विषय को अच्छे से पढ़े और कमजोर विषय को अधिक समय देने की कोशिश करें। 

 

यदि आप घर पर 5- 6 घंटे (कोचिंग के अलावा) पढ़ रहे हैं तो यह पर्याप्त है। आपको यह नहीं सोचना है कि आपके पास पर्याप्त समय नहीं है।


आपको दवाब में आने की बिल्कुल भी जरुरत नहीं है, आप बस शांत रहें और टाइम-टेबल का ध्यानपूर्वक पालन करते रहें।

 

2.)  सिलेबस का अच्छे से अध्ययन करे -

जेईई मेन (JEE Main) परीक्षा को क्रैक करने के लिए जेईई मेन 2020 के सिलेबस का अच्छे से अध्ययन करना अत्यधिक आवश्यक है। जेईई मेन के सिलेबस (JEE Main Syllabus) का आधार NCERT की पाठ्यपुस्तकों में है। रिफरेन्स पुस्तकों को पढ़ना भी हमारे लिए लाभकारी होगा। अपने सिलेबस का अच्छे अध्ययन करने के बाद आप अपने मजबूत और कमजोर क्षेत्रों के बारे में जान जाएंगे।

 

 

3.)  NCERT की पुस्तकों को अधिक से अधिक पढ़ें -

बाजार में बहुत सारी पुस्तकें और क्वेश्चन बैंक उपलब्ध हैं जिनके कारण सही पाठ्यसामग्री (study material) के चयन में भ्रम पैदा होता है। यदि आप असमंजस की स्थिति में हैं कि किस पुस्तक को पढ़ा जाये तो सबसे पहले आपको NCERT की पाठ्यपुस्तकों को पढ़कर अपने बुनियादी Concept को मजबूत करना चाहिए और इन Concept पर अपनी पकड़ मजबूत करे।  


4.)  पुस्तकों का चयन -

बहुत बार देखा गया है कि यदि कोई सम्पूर्ण NCERT पर महारत भी हासिल कर लेता है तो भी JEE Main में अच्छे अंक प्राप्त करने के लिए यह तब तक पर्याप्त नहीं है, जब तक कि वह और अधिक एडवांस्ड पुस्तकें जैसे I.E. Irodov और I.L. Finar को नहीं पढ़ लेता है। यह सर्वविदित तथ्य है कि NCERT की पुस्तके Concept निर्माण करने वाली कुछ सर्वश्रेष्ठ पुस्तकों में से एक है, इसलिए इन एडवांस्ड पुस्तकों में छिपे रहस्यों को डिकोड करने का प्रयास करने से पहले, अपनी नींव का निर्माण करें, ताकि आप परेशानी आने पर घबराएं नहीं, इसलिए आपको कुछ महत्वपूर्ण एडवांस्ड पुस्तकों को भी पढ़ना चाहिए।

 

 5.)  मॉक टेस्ट (Mock Test) हल करें -

मॉक टेस्ट (Mock Test) और पिछले वर्षो के प्रश्न पत्रों का अभ्यास करने से आपको प्रश्नों के प्रकार, पेपर के पैटर्न और परीक्षा के स्तर के बारे में जानकारी मिलेगी। मॉक टेस्ट के माध्यम से आपको जो महत्वपूर्ण बात जानने को मिलेगी, वह यह है कि परीक्षा में सभी प्रश्न हल करना आवश्यक नहीं है क्योंकि परीक्षा में, प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 1 अंक काट लिया जाएगा। जो अंत में आपके स्कोर को प्रभावित करेगा।

 

जब भी आप मॉक टेस्ट (Mock Test) हल करें तब एक टाइमर जरूर सेट करें और टाइमर के अनुसार ही दिए गए समय में पूरा पेपर हल करने का प्रयास करें। इससे आप अपने समय को ठीक ढंग से इस्तेमाल कर सकेंगे और किस प्रश्न को कितना समय देना है, यह भी आपको पता चल जायेगा। इसके अलावा जेईई मेन के Sample Papers को भी हल करते रहें।

 

आप अपनी तैयारी को नियमित अभ्यास से बेहतर बना सकते हैं और आप जितना अधिक अभ्यास करेंगे उतना ही ज्यादा आप उस विषय में महारत हासिल कर लेंगे।

 

 


6.)  समय समय पर रिवीजन करे -

जेईई मेन को क्रैक करने के लिए आपको स्मार्ट रिवीजन करना चाहिए। तैयारी के समय आप जो भी पढ़ते हैं, याद करते हैं या जिन प्रश्नों को हल करते हैं उनका रिवीजन समय समय पर करे जिससे आप एग्जाम के वक्त उन प्रश्नो को नहीं भूलेंगे। बहुत बार ऐसा देखा गया है कि अभ्यर्थी सही रिवीजन न होने के कारण परीक्षा में घबरा जाते हैं और आते हुए प्रश्न भी गलत कर आते हैं। दिन भर में आप जो भी पढ़ें उसे रिवाइज करने के लिए थोड़ा समय जरूर निकले। ऐसा करने से टॉपिक्स पर आपकी पकड़ मजबूत हो जाएगी।


7.)  स्वस्थ खान-पान लें -

साथ ही आप स्वस्थ खान-पान लें और नकारात्मक विचारों से दूर रहे। आप अपने लिए भी समय निकालें, पूरे समय सिर्फ परीक्षा के बारे में न सोचें और साथ ही तनाव को कम करने के लिए ध्यान और योग करें। ऐसा करने से आपका व्यक्तित्व भी सकारात्मक रहेगा और आप जेईई मेन (JEE Main) के लिए पूरी तरह से तैयार भी हो जायेंगे।

 

 

जेईई मेन परीक्षा पैटर्न 2021 (JEE Main Exam Pattern 2021)

  • जेईई मेन 2020 में वस्तुनिष्ठ और न्यूमेरिकल प्रकार के प्रश्न पूछे जाएंगे।
  • प्रवेश परीक्षा केवल कंप्यूटर आधारित मोड में आयोजित की जाएगी।
  • परीक्षा के लिए 3 घंटे का समय दिया जायेगा।
  • JEE Main पेपर- 1 में कुल 75 प्रश्न पूछे जायेंगे
  • Physics, Chemistry और Maths प्रत्येक से 25-25 प्रश्न पूछे जायेंगे।
  • इन 25 प्रश्नों में 5 न्यूमेरिकल सवाल भी पूछे जाएंगे।
  • प्रश्न का सही उत्तर देने पर 4 अंक प्राप्त होंगे, जबकि गलत उत्तर देने पर 1 अंक काट लिया जायेगा।
  • न्यूमेरिकल का भी सही उत्तर देने पर 4 अंक मिलेंगे लेकिन गलत उत्तर देने पर 0 अंक मिलेगा।
  • प्रश्न- पत्र कुल 300 अंको का होगा।
 

जेईई मेन सिलेबस 2021 (JEE Main Syllabus 2021)

जेईई मेन 2020 पेपर- 1 और पेपर- 2 का सब्जेक्ट-वाइज सिलेबस नीचे दिया गया है:

 

Maths

  • समिश्र संख्या और द्विघात समीकरण
  • मैट्रिक्स और डेटेर्मेनेंट्स
  • सेटरिलेशन और फंशन
  • मैथमेटिकल इंडक्शन
  • क्रमचय और संचय
  • माथेमैटिकल रीजनिंग
  • लिमिटकंटीन्यूटी और डिफ्रेंशिएबिलिटी
  • इंटीग्रल कैलकुलस
  • त्रिआयामी ज्यामिति
  • डिफरेंशियल इक्वेशंस
  • द्विपद प्रमेय और इसके सरल अनुप्रयोग
  • अनुक्रम और श्रृंखला
  • वेक्टर अलजेब्रा
  • स्टैटिस्टिक्स और प्रोबेबिलिटी
  • त्रिकोणमति
  • निर्देशांक ज्यामिति

 

Physics

 

Section- A

  • भौतिकी और माप
  • घूर्णी गति
  • थर्मोडायनामिक्स
  • काईनेमेटिक्स
  • कार्यऊर्जा और शक्ति
  • ठोस और तरल पदार्थ के गुण
  • गुरुत्वाकर्षण
  • गति के नियम
  • दोलन और तरंगें
  • इलेक्ट्रॉनिक उपकरण
  • गैसों का गतिज सिद्धांत
  • करंट इलेक्ट्रिसिटी
  • कम्युनिकेशन सिस्टम्स
  • विद्युत चुम्बकीय प्रेरण और प्रत्यावर्ती धाराएं
  • विद्युत धारा और चुंबकत्व के चुंबकीय प्रभाव
  • ऑप्टिक्स
  • विद्युतचुम्बकीय तरंगें
  • परमाणु और नाभिक
  • इलेक्ट्रोस्टैटिक्स
  • पदार्थ और विकिरण की दोहरी प्रकृति

 

Section- B


  • एक्सपेरिमेंटल स्किल्स
  • केमिस्ट्री
  • फिजिकल केमिस्ट्री
  • सम बेसिक कॉन्सेप्ट्स इन केमिस्ट्री
  • स्टेट्स ऑफ़ मैटर
  • एटॉमिक स्ट्रक्चर
  • केमिकल बॉन्डिंग एंड मॉलिक्युलर स्ट्रक्चर
  • केमिकल थर्मोडायनामिक्स
  • इक्विलिब्रियम
  • सर्फेस केमिस्ट्री
  • केमिकल काइनेटिक्स एंड रेडॉक्स रिएक्शंस एंड एलेक्ट्रोकेमिस्ट्री
  • ऑर्गेनिक केमिस्ट्री
  • प्यूरिफिकेशन एंड कैरेक्टराइजेशन ऑफ़ आर्गेनिक कंपाउंड्स
  • हाइड्रोकार्बन्स
  • रोजमर्रा की जिंदगी में केमिस्ट्री
  • व्यावहारिक रसायन विज्ञान से संबंधित सिद्धांत
  • हैलोजन युक्त कार्बनिक यौगिक
  • ऑक्सीजन युक्त कार्बनिक यौगिक
  • नाइट्रोजन युक्त कार्बनिक यौगिक
  • पॉलीमर्स
  • सम बेसिक प्रिंसिपल्स ऑफ़ ऑर्गेनिक केमिस्ट्री
  • बायोमोलिक्यूल्स
  • इनऑर्गेनिक केमिस्ट्री
  • क्लासिफिकेशन ऑफ़ एलिमेंट्स एंड पीरियॉडिसिटी इन प्रॉपर्टीज
  • हाइड्रोजन
  • s - ब्लॉक एलिमेंट्स (एल्कली एंड एल्कलाइन अर्थ मेटल्स)
  • p- ब्लॉक एलिमेंट्स (समूह 13 से समूह 18 के एलिमेंट्स)
  • d- एंड f - ब्लॉक एलिमेंट्स
  • को-ऑर्डिनेशन कंपाउंड्स
  • एनवायर्नमेंटल केमिस्ट्री
  • धातुओं के अलगाव के सामान्य सिद्धांत और प्रक्रियाएं
 

जेईई मेन सिलेबस 2021 - पेपर 2 (एप्टीट्यूड टेस्ट बी.आर्क / बी.प्लानिंग)


Part- I

व्यक्तियों, स्थानों, भवनों, सामग्रियों के बारे में अवेयरनेस। आर्किटेक्चर और बिल्ड-एनवायरमेंट से संबंधित ऑब्जेक्ट्स, टेक्सचर। द्वि-आयामी ड्राइंग से त्रि-आयामी वस्तुओं की कल्पना करना। तीन-आयामी वस्तुओं के विभिन्न पक्षों की कल्पना करना। एनालिटिकल रीजनिंग मेंटल एबिलिटी (विजुअल, न्यूमेरिकल और वर्बल)।

 

Part- II

त्रिआयामी- अवधारणा: वस्तुओं के पैमाने और अनुपात की समझ और सराहना, भवन रूप और तत्व, कलर टेक्सचर, हारमनी और कंट्रास्ट। पेंसिल में ज्यामितीय या अमूर्त आकार और पैटर्न के डिजाइन और ड्राइंग। 2 डी और 3 डी यूनियन के रूपों का रूपांतरण, सब्ट्रैक्शन, रोटेशन, सतहों और संस्करणों का विकास, जनरेशन ऑफ़ प्लान, एलिवेशन्स और वस्तुओं के 3 डी व्यू। दिए गए आकृतियों और रूपों का उपयोग करके द्विआयामी और त्रिआयामी रचनाएं बनाना।

 

अर्बन-स्पेस (सार्वजनिक स्थान, बाजार, त्योहार, सड़क के दृश्य, स्मारक, मनोरंजक स्थान आदि) और परिदृश्य (नदी के मोर्चों, जंगलों, पेड़ों, पौधों, आदि) एवं ग्रामीण जीवन की स्मृति से दृश्यों और गतिविधियों की स्केचिंग।

 

दोस्तों, अगर आपको हमारी यह पोस्ट जेईई मेन की तैयारी कैसे करे पसंद आई हो तो कृपया इस पोस्ट को सोशल नेटवर्क जैसे- Facebook, Twitter, Whatsapp और दूसरे सोशल मीडिया साइट्स पर शेयर कीजिए.